Menu
कांटो सी चुभती है तन्हाई,
अंगारों सी सुलगती है तन्हाई,
कोई आ कर हम दोनों को ज़रा हँसा दे,
मैं रोता हूँ तो रोने लगती है ‪‎तन्हाई‬..
मोहबत को जो निभाते हैं उनको मेरा सलाम है,
और जो बीच रास्ते में छोड़ जाते हैं उनको ये पैगाम हैं,
वादा-ए-वफ़ा करो तो फिर खुद को फ़ना करो,
वरना खुदा के लिए किसी की ज़िंदगी ना तबाह करो..
तुम शब्दों की जादूगर हो,
मै ख़ामोशी का सौदागर हू,
तुम ने जब चाहा, जो चाहा, कह दिया,
मै हर बार, हर बात हंस कर सह गया।
Advertisement
जाने क्या मुझसे ज़माना चाहता है,
मेरा दिल तोड़कर मुझे ही हसाना चाहता है,
जाने क्या बात झलकती है मेरे इस चेहरे से,
हर शख्स मुझे आज़माना चाहता है..
जीना चाहा तो जिंदगी से दूर थे हम
मरना चाहा तो जीने को मजबूर थे हम
सर झुका कर कबूल कर ली हर सजा
बस कसूर इतना था कि बेकसूर थे हम।
मेरे खवाबो मे आना आपका कसूर था,
आपसे दिल लगाना हमारा कसूर था,
आप आए थे जिन्दगी मे पल दो पल के लिए,
आपको जिन्दगी समझ लेना हमारा कसूर था..
जिंदगी में कभी ऐसा मोड़ आएगा सोचा ना था,
जिसके लिए जीती हूँ वो छोड़ जाएगा सोचा ना था,
सच्ची मोहब्बत की थी मैंने कोई खिलवाड़ नहीं था,
बदले में वो रिश्ता तोड़ जाएगा सोचा ना था…
Advertisement
दो कदम चलकर अक्सर हम रुक जाया करते है,
क्यों इंतजार रहता है उनका,
जो राह में छोड़कर चले जाया करते है।।
जीने की ख्वाहिश में हर रोज़ मरते हैं,
वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं,
झूठा ही सही मेरे यार का वादा है,
हम सच मान कर ऐतबार करते हैं..
टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,
न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
के मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी..
Advertisement
हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर,
तुझपर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,
ना रोते हम यूँ तेरे लिये,
अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता..
तेरी दोस्ती ने दिया सकूं इतना,
की तेरे बाद कोई अच्छा न लगे,
तुझे करनी है बेवफ़ाई तो इस अदा से कर,
कि तेरे बाद कोई भी बेवफ़ा न लगे।
बेगानों से गुजर जाते है कोई बात नहीं होती,
हम उनसे रोज मिलते हैं मगर मुलाक़ात नहीं होती,
सूखे बंजर खेत जैसी जिंदगी बेहाल है,
घटाएं घिर तो आती है मगर बरसात नहीं होती..
इस अजनबी दुनिया में अकेली ख्वाब हूँ मैं,
सवालो से खफा छोटी सी जवाब हूँ मैं,
आँख से देखोगे तो खुश पाओगे,
दिल से पूछोगे तो दर्द की सैलाब हूँ मैं..
दिल में छुपाया राज हर खोला नहीं जाता
गर घाव दे कोई लफ्ज वो बोला नहीं जाता
कुछ तो यकीन किजिए इन चाहतों पे भी
अविश्वास पे हर रिश्ता कभी तोला नहीं जाता।
Advertisement
खरीद सकते उन्हें तो
अपनी जिंदगी देकर भी खरीद लेते,
पर कुछ लोग “कीमत” से नही
“किस्मत” से मिला करते हैं।
तू मेरा सपना, मेरा अरमान है पर..
शायद तू अपनी अहमियत से अंजान है,
मुझसे कभी भी रूठ मत जाना आप,
क्यूंकि मेरी दुनिया आप के बिना वेरान है..
लोग अपना बना के छोड़ देते हैं,
अपनों से रिशता तोड़ कर गैरों से जोड़ लेते हैं,
हम तो एक फूल ना तोड़ सके,
नाजाने लोग दिल कैसे तोड़ देते हैं.
एक दिन हम आपसे इतने दूर हो जायेंगे,
के आसमान के इन तारो में कही खो जायेंगे,
आज मेरी परवाह नहीं आपको,
पर देखना एक दिन हद से ज्यादा.. हम आपको याद आएंगे!!
उदास हूँ पर तुझसे नाराज नही,
तेरे दिल में हूँ पर तेरे पास नही,
वैसे तो सब कुछ है मेरे पास,
पर तेरे जैसा कोई खास नही..
Advertisement
चल हो गया फ़ैसला,
कुछ कहना ही नहीं,
तू जी ले मेरे बग़ैर,
मुझे जीना ही नहीं..
बेवजह हम वजह ढूंढ़ते हैं तेरे पास आने को,
ये दिल बेकरार है तुझे धड़कन में बसाने को,
बुझी नहीं प्यास इन होंठों की अभी,
न जाने कब मिलेगा सुकून तेरी इस दीवानी को।
उल्फत का यह दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही हमसे दूर होता है,
दिल टूट कर बिखरता है इस क़द्र जैसे,
कांच का खिलौना गिरके चूर-चूर होता है!
तेरी दोस्ती की आदत सी पड़ गयी है मुझे,
कुछ देर तेरे साथ चलना बाकी है।
शमसान मैं जलता छोड़ कर मत जाना,
वरना रूह कहेगी कि रुक जा,
अभी तेरे यार का दिल जलना बाकी है।
जब जब तुमसे मिलने की उम्मीद नजर आई,
मेरे पाँव मे जजीर नजर आई,
गिर पडे आँसू आँख से,
और हर एक आँसू मे आपकी तस्वीर नजर आई।.
ना मुस्कुराने को जी चाहता है,
ना आंसू बहाने को जी चाहता है,
लिखूं तो क्या लिखूं तेरी याद में,
बस तेरे पास लौट आने को जी चाहता है|
हस्ती मिट जाती है आशियाँ बनाने मे,
बहुत मुस्किल होती है अपनो को समझाने मे,
एक पल मे किसी को भुला ना देना,
ज़िंदगी लग जाती है किसी को अपना बनाने मे..
Advertisement
दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दिया,
जिस पर मरते थे उसने ही हमे भुला दिया,
हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे,
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया..
दर्द से हाथ न मिलाते तो और क्या करते,
गम के आंसू न बहते तो और क्या करते,
उसने मांगी थी हमसे रौशनी की दुआ,
हम खुद को न जलाते तो और क्या करते!
ना मिलता गम तो बर्बादी के अफसाने कहाँ जाते,
दुनिया अगर होती चमन तो वीराने कहाँ जाते,
चलो अच्छा हुआ अपनों में कोई ग़ैर तो निकला,
सभी अगर अपने होते तो बेगाने कहाँ जाते।
हमसे पूछो क्या होता है पल पल बिताना,
बहुत मुश्किल होता है दिल को समझाना,
यार ज़िन्दगी तोह बीत जायेगी,
बस मुश्किल होता है कुछ लोगो को भूल पाना.
यूँ पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है,
यह वो गुनाह है जो हम बार बार करते है,
जलकर हसरत की राह पर चिराग,
हम सुबह और शाम तेरे मिलने का इंतज़ार करते है.
एक दिन जब हम दुनिया से चले जायेंगे,
मत सोचना आपको भूल जायेंगे,
बस एक बार आसमान की तरफ़ देख लेना,
मेरे आँसू बारिश बनके बरस जायेंगे.
कभी रो के मुस्कुराए, कभी मुस्कुरा के रोए,
जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए,
एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा,
जितना लिख के खुश हुए उस से ज़यादा मिटा के रोए.
Advertisement
लगे है फोन जबसे​ ​तार भी नहीं आते​​,
​बूढी आँखों के अब मददगार भी नहीं आते​​,
​​गए है जबसे शहर में कमाने को लड़के​​,
​​हमारे गाँव में त्यौहार भी नहीं आते।
तड़प के देखो किसी की चाहत में,
तो पता चलेगा, कि इंतजार क्या होता है..
यूं ही मिल जाए, कोई बिना चाहे, तो कैसे
पता चलेगा, कि प्यार क्या होता है..
तेरी चुप्पी का सबब हम जानते है ,
लरज़ते होंठों की शिकायत हम जानते है ,
मेरी हिचकी भी दे रही है गवाही मुहब्बत की,
तेरे पलकों की हरकत भी हम जानते है ।
लम्हें ये सुहाने साथ हो ना हो ,
कल मे आज जैसी बात हो ना हो ,
आपका प्यार हमेशा इस दिल में रहेगा,
चाहे पूरी उम्र मुलाकात हो ना हो..
शायर तो हम है शायरी बना देंगे,
आपको शायरी मे क़ैद कर लेंगे,
कभी सुनाओ हमें अपनी आवाज़,
आपकी आवाज़ को हम ग़ज़ल बना देंगे..
इश्क ने गूथें थे जो गजरे नुकीले हो गए,
तेरे हाथों में तो ये कंगन भी ढीले हो गए,
फूल बेचारे अकेले रह गए है शाख पर,
गाँव की सब तितलियों के हाथ पीले हो गए..
रत्न तो लाख मिले एक ह्रदय धन ना मिला,
दर्द हर वक्त मिला चैन किसी क्षण ना मिला,
ढूढते ढूढते ढल गई धूप जीवन की मगर,
दूसरी बार लौट के हमे बचपन ना मिला..
Advertisement
जिस दिन बंद कर ली हमने आंखें,
कई आँखों से उस दिन आंसु बरसेंगे,
जो कहते हैं के बहुत तंग करते है हम,
वही हमारी एक शरारत को तरसेंगे.
तू रख वो हौसला वो मंजर भी आएगा,
प्यासे के पास चल कर समुन्दर भी आएगा,
थक हार के ना रूकना- ए- मंजिल के मुसाफिर,
मंजिल भी मिलेगी~ मिलने का मजा भी आएगा..
कितना दूर निकल गए रिश्ते निभाते निभाते,
खुद को खो दिया हमने अपनों को पाते पाते,
लोग कहते है दर्द है मेरे दिल में,
और तुम थक गए मुस्कुराते मुस्कुराते..
उसे बेवफा कहकर..
हम अपनी ही नजरो में गिर जाते..
क्यूंकि वो प्यार भी अपना था..
और पसंद भी अपनी..
ये तुम किस बात से बिगड़ गये हो इतना,
कोई झूठा सा इल्ज़ाम इस दिल पर लगा जाते,
तुम्हे था रूठना हमसे, तो रूठने से ज़रा पहेले,
कुछ हमसे सुना होता, कुछ अपनी सुना जाते..
आप तो चाँद हे जिसे सब याद करते हे,
हमारी किस्मत तो तारों जेसी हे,
याद तो दूर,
लोग अपनी ख्वाहिश के लिए हमारी टूटने की फरियाद करते हे..
हम अपना दर्द किसी को कहते नही,
वो सोचते हैं की हम तन्हाई सहते नही,
आँखों से आँसू निकले भी तो कैसे,
क्योकि सूखे हुवे दरिया कभी बहते नही..
Advertisement
तन्हाईयों में मुस्कुराना इश्क है,
एक बात को सबसे छुपाना इश्क है,
यु तो नींद नहीं आती हमें रात भर,
मगर सोते-सोते जागना और जागते-जागते सोना इश्क है.
खुशी मिली तो मुस्कुरा न सके,
गम मिला तो आंसू बहा न सके,
जिन्दगी का यही राज है,
जिसे चाहा उसे पा न सके,
औऱ इतना चाहा कि उसे भुला न सके।
ना हम रहे दिल लगाने के क़ाबिल,
ना दिल रहा गम उठाने के क़ाबिल,
लगा उसकी यादों से जो ज़ख़्म दिल पर,
ना छोड़ा उस ने मुस्कुराने के क़ाबिल..
तोड़ दो न वो क़सम जो खाई है,
कभी कभी याद करलेने मैं क्या बुराई है,
याद आप को किये बिना रहा भी तो नहीं जाता,
दिल में जगा अपने ऐसी जो बनाई है.
ज़माने से नहीं, तन्हाई से डरते हैं,
प्यार से नहीं, रुसवाई से डरते हैं,
मिलने की उमंग है दिल में लेकिन,
मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरते हैं !
हर घडी एक नाम याद आता है;
कभी सुबह, कभी शाम याद आता है;
सोचते हैं हम कि कर लें फिर से मोहब्बत;
फिर हमें मोहब्बत का अंजाम याद आता है।
अपनी सांसों में महकता पाया है तुझे,
हर खवाब मे बुलाया है तुझे,
क्यू न करे याद तुझ को,
जब खुदा ने हमारे लिए बनाया है तुझे..
Advertisement
जन्नत के दर पर इंतजार हो रहा है,
कोई फरिश्ता है जो मेरी रूह लेकर उड़ रहा है,
सुना है जन्नत में कमी नहीं ऐश-ओ-आराम की,
पर तेरी कमी को ये दिल वहाँ भी महसूस कर रहा है..
छोड़ दिया हमने उसका दीदार करना
हमेशा के लिए…
जिसको प्यार की कदर ना हो
उसे मुड़ मुड़ के क्या देखना…..!!
तमन्ना हो मिलने की तो,
बंद आँखों मे भी नज़र आएँगे,
महसूस करने की कोशिश तो कीजिए,
दूर होते हुए भी पास नज़र आएँगे..
वादा करके निभाना भूल जाते हैं,
लगा कर आग फिर वो बुझाना भूल जाते हैं,
ऐसी आदत हो गयी है अब तो सनम की,
रुलाते तो हैं मगर मनाना भूल जाते हैं।
आँखों मे आ जाते है आँसू,
फिर भी लबों पे हँसी लानी पड़ती है
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिस से करते हैं उसी से छुपानी पड़ती है.
तुझे देखु तो सारा जहाँ रंगीन नज़र आता है,
तेरे बिना दिल को चेन किसको आता है,
तुम ही हो मेरे दिल की धड़कन,
तेरा बिना यह संसार आवारा नज़र आता है!
कहते हैं प्यार की शुरूआत
आखों से होती है..!!
यकीन मानों दोस्तो..
प्यार की कीमत भी आंखो से ही
चुकानी पड़ती है..!!
Advertisement
न दिल में बसाकर भुलाया करते हैं,
ना हँसकर रुलाया करते हैं,
कभी महसूस कर के देख लेना,
हम जैसे तोह दिल से रिश्ते निभाया करते है.
बदलना आता नहीं हमे मौसम की तरह,
हर इक रुत में तेरा इंतज़ार करते हैं,
ना तुम समझ सकोगे जिसे क़यामत तक,
कसम तुम्हारी तुम्हे हम इतना प्यार करते हैं|
दिल तोडना हमारी आदत नही,
दिल हम किसी का दुखाते नही,
भरोसा रखना मेरी वफाओ पे,
दिल मे बसा के हम किसी को भूलाते नही।
ज़रूरी काम है लेकिन रोज़ाना भूल जाता हूँ,
मुझे तुम से मोहब्बत है बताना भूल जाता हूँ,
तेरी गलियों में फिरना इतना अच्छा लगता है,
मैं रास्ता याद रखता हूँ ठिकाना भूल जाता हूँ,
बस इतनी बात पर मैं लोगों को अच्छा नहीं लगता,
मैं नेकी कर तो देता हूँ, जताना भूल जाता हूँ..
जीत किसके लिए,हार किसके लिए,
जिन्दगी भर यह तकरार किसके लिए,
जो भी आया है वो जाऐगा एक दिन,
फिर ये अहंकार किसके लिए।..
सोच बदलो सितारे बदलगे,
ऩजर बदलो ऩजारे बदलगे,
किशती कया बदलते हो यारो,
बदलना है तो लहरो को बदलो,
किनारे अपने आप बदलगे..
मौत तो मोहब्बत है एक दिन गले जरूर लगायेगी,
दिल धड़कता है तो बस इस बात पे क्या उस दिन,
तेरी सूरत नज़रो के सामने कयामत बन के आयेगी,
छोड देंगे ये जहाॅ पर रूह तेरी गलीयो मे रह जायेगी..
Advertisement
तेरा ख़याल तेरी आरजू न गयी,
मेरे दिल से तेरी जुस्तजू न गयी,
इश्क में सब कुछ लुटा दिया हँसकर मैंने,
मगर तेरे प्यार की आरजू न गयी.
डरते है आग से कही जल न जाये,
डरते है ख्वाब से कहीं टूट न जाये,
लेकिन सबसे ज़्यादा डरते है आपसे,
कहीं आप हमे भूल न जाये.
किसी के धडकते दिल के पीछे कोई बात होती हैं,
किसी के उदास दिल के पीछे कोई याद होती हैं,
आप को पता हो या ना हो,
आप की खुशी के लिए कही रोज फरियाद होती हैं।
जब कोई ख्याल दिल से टकराता है!
दिल न चाह कर भी, खामोश रह जाता है!
कोई सब कुछ कहकर, प्यार जताता है!
कोई कुछ न कहकर भी, सब बोल जाता है!
अरमान था तेरे साथ जिंदगी बिताने का,
शिकवा है खुद के खामोश रह जाने का,
दीवानगी इस से बढकर और क्या होगी,
आज भी इंतजार है तेरे आने का..
खता हो गयी तो सजा बता दो,
दिल में इतना दर्द क्यों है वजह बता दो,
देर हो गयी है याद करने में ज़रूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल दिल से मिटा दो।
यूँ नजर से बात की और दिल चुरा गए,
अन्धेरो के साए मे धडकन सुना गए,
हम तो समझते थे अजनबी आपको,
आप तो हमको अपना बना गए।
Advertisement
इंकार को इकरार कहते हे,
खामोशी को इज़हार कहते हे,
क्या दस्तूर है इस दुनिया का,
एक खूबसूरत सा धोखा हे,
जिसे लोग ‘प्यार’ कहते हे..
हाल अपने दिल का,
मैं तुम्हें सुना नहीं पाती हूँ..
जो सोचती रहती हूँ हरपल,
होंठो तक ला नहीं पाती हूँ..
बेशक बहुत मोहब्बत है,
तुम्हारे लिए मेरे इस दिल में..
पर पता नहीं क्यों तुमको,
फिर भी मैं बता नहीं पाती हूँ..
हम भी है कुछ अधूरे से तेरे बिना
इतना की अलफ़ाज़ में नही बोल सकते
बिना बोले समझ जाती है तू मुझे
इसी सुकून से जी रहा हु आज भी यहा।।
रूठा रहे मुझसे वो, मंजूर है, लेकिन,
उसे समझा दो कि वो मेरा शहर ना छोङे,
प्यार तो किस्मत में नहीं है शायद,
कम से कम उसका दीदार तो होता रहे।
निगाहों में मंज़िल थी;
गिरे और गिर कर संभलते रहे;
हवाओं ने तो बहुत कोशिश की;
मगर चिराग आँधियों में भी जलते रहे।
हम ने देखी है उन आँखों की महकती खुशबू ,
हाथ से छूके इसे रिश्तों का इल्जाम ना दो;
सिर्फ एहसास है ये, रूह से महसूस करो,
प्यार को प्यार ही रहने दो, कोई नाम ना दो..!!
नफरत को हम प्यार देते है,
प्यार पे खुशियाँ वार देते है,
बहुत सोच समझकर हमसे कोई वादा करना..
ऐ-दोस्त.. हम वादे पर जिदंगी गुजार देते है!!
Advertisement
गम को बेचकर खुशी खरीद लेगे,
ख्याबो को बेचकर जिन्दगी खरीदलेगें,
होगी इम्तहान तो देखेगी दुनिया,
खुद को बेचकर आपकी दोस्ती खरीद लेगे!!
इश्क ओर दोस्ती मेरे दो जहान है,
इश्क मेरी रुह तो दोस्ती मेरा ईमान है,
इश्क पर तो फिदा करदु अपनी पुरी जिंदगी,
पर दोस्ती पर मेरा इश्क भी कुर्बान है!!
एक जैसे दोस्त सारे नही होते,
कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते,
आपसे दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ,
कौन कहता है ‘तारे ज़मीं पर’ नहीं होते.
दोस्ती हर चहरे की मीठी मुस्कान होती है,
दोस्ती ही सुख दुख की पहचान होती है,
रूठ भी गऐ हम तो दिल पर मत लेना,
क्योकि दोस्ती जरा सी नादान होती है…!!!
एक पहचान हज़ारो दोस्त बना देती हैं,
एक मुस्कान हज़ारो गम भुला देती हैं,
ज़िंदगी के सफ़र मे संभाल कर चलना,
एक ग़लती हज़ारो सपने जला कर राख देती है.
नब्ज़ मेरी देखी और बीमार लिख दिया,
रोग मेरा उसने दोस्तों का प्यार लिख दिया,
कर्ज़दार रहेंगे उम्र भर हम उस हकीम के,
जिसने इलाज़ दोस्तों का साथ लिख दिया..
ज़रा सी रंजिश पर,ना छोड़,
किसी अपने का दामन
ज़िंदगी बीत जाती है
अपनो को अपना बनाने में..!
Advertisement
दिल से दुआ है ज़िंदगी तुम्हारी सुधर जाए,
हर नज़र मे बस प्यार ही प्यार नज़र आए,
तुम्हे जिसकी तलाश है आए मेरे दोस्त,
खुदा करे वो खुद तुम्हारी तलाश मे आए..
जीत किसके लिए हार किसके लिए
ज़िंदगी भर ये तकरार किसके लिए,
जो भी आया है वो जायेगा एक दिन
फिर ये इतना अहंकार किसके लिए !
जो सफर की शुरुआत करते हैं,
वे मंजिल भी पा लेते हैं बस,
एक बार चलने का हौसला रखना जरुरी है.
क्योंकि,अच्छे इंसानों का तो रास्ते भी इन्तजार करते है
कदर करलो उनकी जो तुमसे
बिना मतलब की चाहत करते है
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम
और तकलीफ देने वाले ज्यादा होते है!!
वक़्त कहता है फिर ना आऊगा,
आप की आँखों को न अब रूलाऊगा,
जीना है तो इस पल को जी लो,
शायद मै कल तक ना रूक पाऊगा।
कभी आसूं तो कभी खुशी देखी,
हमने अक्सर मजबूरी और बेकसी देखी,
उनकी नाराजगी को हम क्या समझे,
हमने खुद कि तकदीर की बेबसी देखी..
प्यासी ये निगाहें तरसती रहती हैं;
तेरी याद में अक्सर बरसती रहती हैं;
हम तेरे ख्यालों में डूबे रहते हैं;
और ये ज़ालिम दुनिया हम पे हँसती रहती है।
जिन्दगी तो है पर कुछ खास नहीं,
होठो पे उनका नाम तो है पर उन्हें एहसास नहीं,
दिल में उनके लिए प्यार तो है पर उन्हें आभास नहीं,
अपना बनाना चाहते हैं पर अब उन्हें अपना बनाने की उम्मीद भी हमारे पास नहीं।
दिन हुआ है तो रात भी होगी,
हो मत उदास, कभी बात भी होगी,
इतने प्यार से दोस्ती की है,
जिन्दगी रही तो मुलाकात भी होगी..
हर घड़ी, हर पल, हर लम्हा निगाहों में तेरा ही चेहरा रहता है,
तुम्हारे मौसम बदलते रहते हैं, हमारा वक्त ठहरा रहता है,
कैसे मिटा दें तेरा अक्स हम इन आँखों से,
हमारी तो धड़कनों पर भी तेरी यादों का पहरा रहता है..